admin Article अंतरराष्ट्रीय

Vews अंतरराष्ट्रीय समाचार हिन्दी: फालतू समझ रहे पेंटिंग की असली कीमत सुनकर उड़े होश, अब मिलेंगे 368 करोड़ रुपए

पुरानी वस्तु हमेशा बेकार नहीं होती अपने घरों में नजर दौड़ाइए, देखिए अगर कोई पुरानी वस्तु दिखे तो उसे फालतू और बेकार समझने की गलती ना कीजिए, हो सकता है कि उसकी कीमत करोड़ों में हो। अमेरिका से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें फालतू समझे जा रही चीज करोड़ों की निकल गई। 30 […]

@gulfhindi •  • 
0 |  Last seen: 2 months ago
फालतू समझ रहे पेंटिंग की असली कीमत सुनकर उड़े होश, अब मिलेंगे 368 करोड़ रुपए
फालतू समझ रहे पेंटिंग की असली कीमत सुनकर उड़े होश, अब मिलेंगे 368 करोड़ रुपए

Key Moments

पुरानी वस्तु हमेशा बेकार नहीं होती

अपने घरों में नजर दौड़ाइए, देखिए अगर कोई पुरानी वस्तु दिखे तो उसे फालतू और बेकार समझने की गलती ना कीजिए, हो सकता है कि उसकी कीमत करोड़ों में हो। अमेरिका से एक ऐसा मामला सामने आया है जिसमें फालतू समझे जा रही चीज करोड़ों की निकल गई। 30 डॉलर (करीब 2100 रुपये) में एक आर्टवर्क खरीदा था जो देखने में बिल्कुल सामान्य था लेकिन उसकी कीमत करोड़ों में थी।

गुप्त रखना चाहता है अपना नाम 

मिरर यूके की रिपोर्ट के अनुसार वह नहीं चाहता कि उसका नाम उजागर हो। उसके पास को स्केच है उस की कीमत 5 करोड़ डॉलर यानी लगभग 368 करोड़ रु आंकी जा रही है। एक माँ और बच्चे का बिना फ्रेम वाला फोटो बना है। इसे पीले लिनन के द्वारा बनाया गया है। यह दुनिया के सबसे प्रसिद्ध मोनोग्राम – अल्ब्रेक्ट ड्यूरर के “एडी” की प्रसिद्ध कला है।

एक पल में बदल गई किस्मत

बताते चलें कि इसकी पुष्टि विशेषज्ञों और विद्वानों के द्वारा भी की जा चुकी है। इसकी वास्तविक कीमत 5 करोड़ डॉलर यानी लगभग 368 करोड़ रु आंकी जा रही है। व्यक्ति एक पल में करोड़पति बन चुका है।


हमसे अन्य सोशल मीडिया साइट पर जुड़े