admin Article भारत

Vews भारत समाचार हिन्दी: यूपी के कन्नौज में मदद के लिए घायल नाबालिग के रोने के रूप में पुरुष वीडियो बनाया!

कन्नौज में डाक बांग्ला गेस्ट हाउस के पीछे एक 12 वर्षीय लड़की के साथ कथित रूप से बलात्कार किया गया और फिर उसे खून से लथपथ पाया गया। घटना का

@the-siasat-daily •  • 
0 |  Last seen: 2 months ago
यूपी के कन्नौज में मदद के लिए घायल नाबालिग के रोने के रूप में पुरुष वीडियो बनाया!
यूपी के कन्नौज में मदद के लिए घायल नाबालिग के रोने के रूप में पुरुष वीडियो बनाया!

Key Moments

कन्नौज में डाक बांग्ला गेस्ट हाउस के पीछे एक 12 वर्षीय लड़की के साथ कथित रूप से बलात्कार किया गया और फिर उसे खून से लथपथ पाया गया।

घटना का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है, जिसमें राहगीर गंभीर रूप से घायल लड़की की मदद करने के बजाय उसे फिल्माने में व्यस्त दिख रहे हैं।बच्ची के सिर सहित कई जगह चोटें आई हैं।

वीडियो में, लड़की को हाथ उठाकर मदद के लिए बाहर निकलने की कोशिश करते देखा जा सकता है, लेकिन उसकी अपील अनुत्तरित हो जाती है।

वीडियो में पुरुषों के एक समूह को उनके हाथों में मोबाइल फोन के साथ विभिन्न कोणों से फिल्माते हुए दिखाया गया है।दर्शकों को यह पूछते हुए सुना जा सकता है कि क्या पुलिस को सूचित किया गया था।

दूसरे ने थानाध्यक्ष का नंबर मांगा। लेकिन फिल्मांकन जारी रहा और लड़की की मदद करने का कोई प्रयास नहीं किया।

पुलिस के आने तक लड़की को मदद के लिए इंतजार करना पड़ा।एक दूसरा वीडियो, जो वायरल भी हुआ, में स्थानीय पुलिस चौकी प्रभारी को घायल लड़की को गोद में लिए एक ऑटोरिक्शा की ओर भागते हुए दिखाया गया।

पुलिस अधीक्षक कुंवर अनुपम सिंह ने कहा, “नाबालिग घायल पाई गई और स्थानीय पुलिस ने उसे इलाज के लिए अस्पताल पहुंचाया।”

उन्होंने कहा कि लड़की के परिवार की शिकायत के आधार पर संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

यह स्पष्ट नहीं है कि लड़की का यौन उत्पीड़न किया गया था या नहीं। मामले में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है।लड़की के परिवार वालों के मुताबिक दोपहर में वह गुल्लक खरीदने के लिए निकली थी।

शाम तक जब वह घर नहीं लौटी तो परिजनों ने उसकी तलाश की।लड़की गेस्ट हाउस के पीछे खून से लथपथ और घायल अवस्था में मिली थी।

बाद में पीड़िता को जिला अस्पताल ले जाया गया जहां एक डॉक्टर ने उसकी जांच की और उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे कानपुर रेफर कर दिया। स्थानीय लोगों का आरोप है कि बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया और उसे वहीं फेंक दिया गया।

हालांकि, पुलिस निवासियों के दावे से इनकार कर रही है।गुरसहायगंज थाना प्रभारी मनोज पांडे ने कहा कि अभी किसी नतीजे पर पहुंचना जल्दबाजी होगी और पुलिस बच्ची के बयान का इंतजार कर रही है।

Source


हमसे अन्य सोशल मीडिया साइट पर जुड़े