लखनऊ सीएम योगी आदित्यनाथ: मुनव्वर राना ने शेयर की सीएम योगी की मां के साथ फोटो, लिखा

मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊं, मां से इस तरह लिपट जाऊं कि बच्चा हो जाऊं। मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ,, माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊं।

लखनऊ सीएम योगी आदित्यनाथ: मुनव्वर राना ने शेयर की सीएम योगी की मां के साथ फोटो, लिखा
लखनऊ सीएम योगी आदित्यनाथ: मुनव्वर राना ने शेयर की सीएम योगी की मां के साथ फोटो

सीएम योगी आदित्यनाथ बुधवार को अपनी मां से मिले। पांच साल बाद अपने बेटे योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनकी 84 वर्षीय मां सावित्री देवी काफी भावुक हो गईं। वहीं, शायर मुनव्वर राना ने अपने ट्विटर अकाउंट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपनी मां से मिलने के समय की फोटो शेयर की है। उन्होंने इसके अलावा बेहद भावुक पंक्तियां भी लिखी है।

शायर मुनव्वर राना ने अपने ट्विटर अकाउंट पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अपनी मां से मिलने के समय की फोटो शेयर की है। उन्होंने इसके अलावा बेहद भावुक पंक्तियां भी लिखी है।

  1. मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊं
  2. मां से इस तरह लिपट जाऊं कि बच्चा हो जाऊं।
  3. मेरी ख़्वाहिश है कि मैं फिर से फ़रिश्ता हो जाऊँ,
  4. माँ से इस तरह लिपट जाऊँ कि बच्चा हो जाऊं।

गौरतलब है कि मंगलवार को अपने गुरु अवेद्यनाथ की प्रतिमा अनावरण के सिलसिले में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ अपने पैतृक गांव यमकेश्वर के पंचूर पहुंचे थे। यहां तीन बजे से करीब साढ़े पांच बजे तक उन्होंने अनावरण कार्यक्रम और जनसभा में शिरकत की। इसके बाद वह उत्तराखंड के सीएम पुष्कर सिंह धामी, पूर्व सीएम त्रिवेंद्र रावत और अन्य लोगों के साथ बिथ्याणी स्थित महाविद्यालय से करीब तीन किमी दूर घर पहुंचे। सीएम धामी और अन्य लोगों ने यहां परिजनों से भेंट की और लौट आए।

योगी आदित्यनाथ मंगलवार रात को घर में ही ठहरे। उनकी यहां यूपी पुलिस प्रशासन के साथ ही उत्तराखंड प्रशासन की ओर से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई है। घर में बुधवार की रात को उनके छोटे भाई महेंद्र बिष्ट के बेटे का चूड़ाक्रम संस्कार था। मुंडन कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उनके सभी नाते-रिश्तेदार पहले ही घर पहुंचे हुए हैं। पांच साल बाद अपने बेटे योगी आदित्यनाथ से मिलकर उनकी 84 वर्षीय मां सावित्री देवी काफी भावुक हो गईं। इस दौरान योगी ने मां से आशीर्वाद लिया। योगी आदित्यनाथ को अपने बीच में पाकर उनके नाते-रिश्तेदार व परिजन गदगद हो उठे।

Get in touch with other sites