verified Article मुजफ्फरनगर

Vews मुजफ्फरनगर समाचार हिन्दी: सपा के राज में बहू-बेटियों से गुंडे करते थे खुलेआम छेडछाड, हमने सिखाया सबक: योगी आदित्यनाथ

@KawalHasan •  • 
0 |  Last seen: 4 months ago
सपा के राज में बहू-बेटियों से गुंडे करते थे खुलेआम छेडछाड, हमने सिखाया सबक: योगी आदित्यनाथ

Key Moments

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि सपा के राज में बहू-बेटियों से गुंडे खुलेआम छेडखानी करते थे, लेकिन हमने ऐसे लोगों को कडा सबक सिखाया है और अब वो गले में तख्ती डालकर माफी मांगने पर मजबूर हैं। सीएम ने कटाक्ष किया कि वर्ष 2013 में दो लड़कों की जोड़ी ने मुजफ्फरनगर में दंगा कराया था, एक दंगा करा रहा था, तो दूसरा दिल्ली में बैठकर तमाशा देख रहा था। सपा सरकार में गुंडे खुलेआम बहू-बेटियों के साथ छेड़छाड़ करते थे। कवाल में दो नौजवानों ने बहन के साथ हुई छेड़छाड़ का विरोध किया, तो उनकी हत्या कर दी गई।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुरकाजी विधानसभा क्षेत्र के बरला इंटर कॉलेज के मैदान में भाजपा प्रत्याशी प्रमोद ऊटवाल के समर्थन में जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि यह मुजफ्फरनगर की धरती है। यहां का नौजवान, यहां का किसान हमेशा से देश के लिए एक प्रेरणा रहा है। नौजवान सेना में जाकर या तो अपनी जवानी खपाता है या फिर अन्न उत्पादन कर सभी को भोजन देने का काम करता है। मुजफ्फरनगर का गुड़ दुनिया में विख्यात है।
योगी आदित्यनाथ ने कहा कि यहां का पवित्र तीर्थ, जिसके उद्धार के लिए सरकार ने पूरी कार्ययोजना बनाई है। तुलना कीजिए 2017 से पहले मुजफ्फरनगर की क्या स्थिति थी? न बेटी, न अन्नदाता सुरक्षित था। बेटी की सुरक्षा किस कदर खतरे में थी। ये तो मुजफ्फरनगर के दंगों ने देश और दुनिया को बताया। जब सचिन और गौरव जैसे नौजवान बहन की सुरक्षा में बलिदान हो गए। उन्होंने कटाक्ष किया कि
दो लड़कों की जोड़ी दंगा कराने में व्यस्त थी। एक दंगा करा रहा था, दूसरा तमाशा देख रहा था। किसी की संवेदना यहां के किसान और नौजवानों के प्रति नहीं थी। जब आपकी सुरक्षा की बात आई, तो उस समय यहां डॉ. संजीव बालियान, सुरेश राणा, विक्रम सैनी, उमेश मलिक ही लड़ रहे थे। सीएम ने कहा कि पीएम मोदी के आह्वान पर जब भाजपा को आशीर्वाद दिया, तो पांच साल में आपने देखा होगा कि किस तरह दंगाइयों को उनके बिलों में घुसाने का काम किया गया। चुनाव की घोषणा के बाद वे फिर बिलों से बाहर आए। ज्यादा दिन नहीं, 32-33 दिनों की सीमा होगी। हर दिन एक दिन कम होता जाएगा और उसके बाद गर्मी को कम करने का काम किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि बेटी भी सुरिक्षित रहेगी और विकास भी आगे बढ़ेगा। सहारनपुर में भी विश्वविद्यालय बन रहा है। पहले कर्फ्यू लगता था, अब कांवड़ यात्रा निकाल रहे हैं। जो बेटियों की सुरक्षा के लिए खतरा बनेगा, उसके गले में पट्टी लटकाकर जान की भीख मांगनी ही पड़ेगी। उन्होंने कहा कि मुजफ्फरनगर की गन्ने की मिठास बनी रहनी चाहिए। गन्ने की मिठास डबल इंजन की भाजपा सरकार लाएगी।
उन्होंने कहा कि जिन्ना समर्थक गन्ने की मिठास नहीं ला सकते। ये गरीबों का राशन हड़पने वाले लोग हैं। हड़पकर कहां रखते हैं? ये हड़पकर इत्र वाले मित्र के पास रखते हैं। इसलिए तय किया है एक तरफ विकास का कार्य करेंगे, दूसरे हाथ से बुल्डोजर चलाने का कार्य करेंगे। सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बुल्डोजर में एक हसीन खिड़की है, वह पहचान जाता है कि कौन दंगाई है। यह घूम-घूमकर जाता है, किसने गरीब का हड़पा है। उसी के ऊपर चलता है। वह बताता भी है कौन इत्र वाले मित्र हैं। जिनकी सोच समाजवाद, नाम परिवारवाद और काम दंगावाद है। सुरक्षा भी भाजपा देगी और सम्मान भी भाजपा की डबल इंजन की सरकार दे रही है। समृद्धि की ओर भी भाजपा की डबल इंजन की सरकार ले जा रही है।
मुजफ्फरनगर में गरीबों के लिए सपा के समय में 18 हजार मकान स्वीकृत हुए थे, लेकिन मिला किसी को नहीं। भाजपा की सरकार में 19,211 परिवारों को मकान मिले हैं। प्रदेश में 41 लाख से अधिक लोगों को मिले। यूपी में 100 फीसदी लोग कोरोना की वैक्सीन ले चुके हैं। जो कोरोना के खिलाफ दुष्प्रचार कर रहे थे, ये वैक्सीन उनके मुंह पर तमाचा है। जनसभा में केंद्र सरकार में मंत्री डा. संजीव बालियान, पूर्व सांसद सोहनवीर सिंह, भाजपा प्रत्याशी प्रमोद ऊटवाल, क्षेत्रीय अध्यक्ष मोहित बेनीवाल, जिलाध्यक्ष विजय शुक्ला, जिला प्रभारी सतेंद्र सिसौदिया, जिला पंचायत सदस्य पंडित श्रीभगवान शर्मा, नरेंद्र उपाध्याय, मा. सोहनबीर सिंह, अनिल उपाध्याय, पंकज त्यागी, पुरुषोत्तम गौतम ने भी विचार रखे।

अस्वीकरण

यह पोस्ट स्वयं प्रकाशित किया गया है. Vews.in लेखक द्वारा व्यक्त किए गए विचारों के लिए न तो समर्थन करता है और न ही जिम्मेदार है.. Profile .


हमसे अन्य सोशल मीडिया साइट पर जुड़े